एसडीम ऑफिसर (SDM Officer) कैसे बने पूरी जानकारी

0

SDM Officer kaise bane दोस्तों आज की इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले है की एसडीम ऑफिसर क्या है (What is SDM Officer in Hindi) एसडीम ऑफिसर कैसे बने पूरी जानकारी (How to become a SDM Officer in Hindi) दोस्तों तो अगर आपको पूरी डिटेल्स में जानना है की एसडीम ऑफिसर की योगयता (SDM Officer Qualification) क्या है योग टीचर की कितनी सैलरी है (SDM Officer Salary) तो बस आर्टिकल पढ़ते रहिये.

दोस्तों आज के समय में अधिकतर युवा यह चाहते हैं कि एक प्रशासनिक नौकरी को करें। प्रशासनिक सेवा में अलग-अलग पदों का ऑफिसर होते हैं। अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए युवा कड़ी मेहनत करते हैं। लक्ष्य की प्राप्ति के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह होती है कि आपको अपने लक्ष्य की सारी जानकारियां होनी चाहिए.

SDM officer kaise bane

अगर आपको अपने लक्ष्य के सारी जानकारियां हैं तो आप अपनी मेहनत सही दिशा में और सही तरीके से कर सकते हैं इससे आपकी सफलता पाने की संभावना बहुत ही अधिक बढ़ जाती है। दोस्तों आज मैं प्रशासनिक सेवा के एक ऑफिसर के बारे में आपको इस आर्टिकल में बताऊंगा। आज मैं आपको एसडीएम ऑफिसर (SDM officer) की पूरी जानकारी दूंगा जैसे कि:-

  • एसडीम ऑफिसर क्या है (What is SDM officerin Hindi)
  • एसडीम ऑफिसर कैसे बने (How to become a SDM Officer in Hindi)
  • एसडीएम ऑफिसर बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता (Eligibility Criteria for SDM Officer Exam in hindi)
  • एसडीएम ऑफिसर की सैलरी कितनी है (SDM officer salary)

एसडीम ऑफिस  क्या है और उनके काम (What is SDM Officer in Hindi and Their Work)

एसडीएम ऑफ़ सर का फुल फॉर्म है सब डिविजनल मजिस्ट्रेट (SUB DIVISIONAL MAGISTRATE) इसे हिंदी में उप प्रभागीय न्यायाधीश कहते हैं। यह जिले के सभी जमीन व्यापार की देखरेख करता है। जिले की सभी जमीन व्यवस्था जमीन की लेखा-जोखा एसडीएम ऑफिसर के पास होती है। जिले में जितने भी तहसीलदार हैं वह एसडीएम ऑफिसर के नियंत्रण में होते हैं।

एसडीम ऑफिसर के पास और भी बहुत सारे कामों का कार्यभार होता है जैसे कि जिले में लोकसभा और विधानसभा के चुनाव का सही तरीके से आयोजित करना, वाहनों और दुकानों इत्यादि की लाइसेंस जारी करना, विवाह का रजिस्ट्रेशन करवाना, विभिन्न प्रकार के पंजीकरण करवाना यह सारे अधिकार एसडीएम के पास होते हैं।

 एसडीएम के पास जिले के कई आपराधिक मामलों की सुनवाई भी करता है जैसे कि जिले में नाबालिक आधारित जो अपराध होते हैं उनकी सुनवाई एसडीएम करता है।

एसडीम ऑफिसर कैसे बने (How to become a SDM Officer in Hindi) 

दोस्तों एसडीएम ऑफिसर बनने के लिए आपके पास दो रास्ते होते हैं पहला आप यूपीएससी की परीक्षा के द्वारा एसडीम ऑफिसर बन सकते हैं और दूसरा राज्य स्तर की सिविल सर्विस की परीक्षा जैसे  पीसीएस की परीक्षा द्वारा भी आप एसडीम ऑफिसर बन सकते हैं । पीसीएस परीक्षा (PCS exam) की पूरी जानकारी के लिए आप इस आर्टिकल को पढ़ें।

एसडीएम बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता (Education Qualification For SDM Officer in hindi) 

एसडीम ऑफिसर बनने के  के लिए अभ्यार्थी को किसी भी विषय में 55% अंक के साथ graduation की डिग्री किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से होनी चाहिए। आरक्षित वर्गों के लिए 5% अंकित छूट दी गई है सिविल सर्विस परीक्षा की सबसे अच्छी बात यह होती है कि इसमें सारे स्ट्रीम के बच्चे बैठ सकते हैं।

एसडीएम ऑफिसर बनने के लिए आयु सीमा (Age Limit For SDM Officer)

दोस्तों एसडीम ऑफिसर बनने के लिए कुछ आयु सीमा सरकार के द्वारा तय की गई है अब मैं आपको यह बताऊंगा आप कितनी आयु तक एसडीएम के परीक्षा दे सकते हैं.

एसडीएम ऑफिसर बनने के लिए न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 40 वर्ष तय की गई है। 21 से 40 वर्ष की आयु के बीच में आप एसडीएम की परीक्षा दे सकते हैं। आरक्षित वर्गों के लिए आयु में कुछ वर्षों की छूट दी गई है जैसे कि

  • ओबीसी कैटेगरी (obc category) के लिए 5 वर्षों की छूट दी गई है
  • एसटी और एससी कैटेगरी(sc\st category)  के लिए 5 वर्षों की छूट दी गई है।
  • दोस्तों इसमें खेल का भी कोटा (game quota) दिया गया है अगर आप राज्य या जिला स्तर के किसी भी खेल के खिलाड़ी हैं तो आपको 5 वर्ष की छूट दी गई है।
  • विकलांग(physically handicapped) लोगों के लिए 15 वर्ष की छूट दी गई है।

एसडीएम की परीक्षा कितनी बार दे सकते हैं (How Many Times Can i Take SDM Exam)

सामान्य वर्ग के विद्यार्थी इस परीक्षा को 4 बार ही दे सकते हैं। आरक्षित वर्ग जैसे कि एससी एसटी कैटेगरी के लोग इस परीक्षा में इनके लिए परीक्षा में बैठने की कोई लिमिट नहीं है। विकलांग विद्यार्थियों के लिए भी इस परीक्षा में बैठने की कोई लिमिट नहीं है।

एसडीएम परीक्षा का पैटर्न (Exam Pattern of SDM in Hindi) 

दोस्तों एसडीएम के परीक्षा को तीन भागों में विभाजित किया गया है पहली दो परीक्षा लिखित होती है और तीसरी परीक्षा इंटरव्यू होती है। जो विद्यार्थी दोनों लिखित परीक्षा में सफल होते हैं उन्हें ही इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।

पहले लिखित परीक्षा को प्रारंभिक परीक्षा कहते हैं इसमें आपको सामान्य अध्ययन से प्रश्न पूछे जाते हैं और सारे प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप (objective type) के होते हैं। आप जिस राज्य  राज्य की पीसीएस की परीक्षा दे रहे हैं उसमें आपको उस राज्य के संबंधित सामान अध्ययन का भी प्रश्न पूछा जाता है।

दूसरी लिखित परीक्षा को मेन परीक्षा कहते हैं इसमें वही विद्यार्थी बैठते हैं जो पहली लिखित परीक्षा में सफल होते हैं। इसमें आपको हिंदी और अंग्रेजी के प्रश्न पूछे जाते हैं। इसमें आप से subjective type के प्रश्न पूछे जा सकते हैं। इसमें आपको निबंध के भी प्रश्न पूछे जाते हैं।

दोनों परीक्षा में सफल विद्यार्थियों को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।

इंटरव्यू में विद्यार्थियों की निर्णय लेने की क्षमता की परीक्षा ली जाती है। आपसे आपकी विषय की सारी जानकारी के बारे में भी पूछा जा सकता है। आपसे आपके राज्य की जानकारी के बारे में पूछा जा सकता है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसमें आपके आत्मविश्वास की परीक्षा ली जाती है। कभी-कभी इंटरव्यू में आपसे यह पूछा जाता है कि आप सिविल सर्विस जॉइन क्यों करना चाहते हैं इसके लिए आप कहां से प्रेरित हुए हैं इत्यादि तरह के सवाल आपसे पूछे जाते हैं।

जो विद्यार्थी दोनों परीक्षा में सफल होते हैं उन्हें सबसे पहले इंटरव्यू के लिए आवेदन करना होता है तभी वह इंटरव्यू के परीक्षा में बैठ सकते हैं।

एसडीम ऑफिसर की सैलरी (SDM Officer Salary)

एसडीम ऑफिस मैं आप को सैलरी 9300 से लेकर 34800 के बीच में मिलती है इसके साथ आपको grade pay के तौर पर ₹5400 हर महीने मिलते हैं।

एसडीम ऑफिसर को सैलरी के अलावा और बहुत सारी सुविधाएं प्राप्त होती हैं

  • ​एसडीएम ऑफिसर को रहने के लिए सरकारी निवास
  • निवासी में सिक्योरिटी गार्ड  रसोईया इत्यादि की सुविधाएं भी देते हैं
  • सरकारी वाहन भी एसडीम ऑफिसर को प्राप्त होती है
  • फ्री बिजली और फ्री टेलीफोन की सुविधा भी प्राप्त होती है
  • सबसे महत्वपूर्ण बात उन्हें जॉब सिक्योरिटी प्राप्त होती है जो कि अधिकतर निधि नौकरियों में प्राप्त नहीं होती है
  • रिटायरमेंट के बाद पेंशन की सुविधा भी मिलती है
  • आज की पढ़ाई के लिए स्टडी लीव ही मिलती है
  • सरकारी काम के लिए अगर आप कहीं दूसरे राज्य में जाते हैं तो वहां आपको अच्छी रहने की सुविधा

प्रमोशन के अवसर

जो विद्यार्थी यूपीएससी परीक्षा के द्वारा एसडीएम ऑफिसर बनते हैं उनकी प्रमोशन के अवसर ज्यादा होते हैं उन विद्यार्थियों की तुलना में जो राज्य लोकसेवा यानी पीसीएस परीक्षा के द्वारा एसडीम ऑफिसर बनते हैं।

एसडीम ऑफिसर (SDM Officer) कैसे बने पूरी जानकारी

दोस्तों मैंने इस आर्टिकल में आपको एसडीम ऑफिसर के सारी जानकारियां दी जैसे कि एसडीम ऑफिसर क्या है एसडीम ऑफिसर कैसे बन सकते हैं? (sdm officer kaise bane in hindi) एसडीम ऑफिसर की सैलरी क्या है? (sdm officer salary) एसडीम ऑफिसर की परीक्षा का पैटर्न क्या है? (SDM Officer Exam Pattern).

मैंने कोशिश किया कि आपको सारी जानकारियां सही तरीके से उपलब्ध करा सकूं ताकि आप अपने परीक्षा कि तैयारी अच्छे से कर सकें और अपनी परीक्षा में सफल हो सके अगर फिर भी आपको कोई प्रश्न है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here