IPC 340 in Hindi – आईपीसी की धारा 340 क्या है पूरी जानकारी

दोस्तों आज की इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि आईपीसी धारा 340 क्या है। (What is IPC Section 340 in Hindi), आईपीसी धारा 340 में कैसे सजा होती है, आईपीसी धारा 340 कैसे इसमें जमानत होती है। (How is punishment and bail in IPC section 340 in Hindi) यह धारा क्या कहती है। (What does IPC section 340 says in Hindi), सब कुछ विस्तार से जानेंगे बस आप आर्टिकल लास्ट तक पढ़ते रहना।

दोस्तों अभी तक की दी गयी जानकारी में हमने अलग अलग धारों के बारे में बताया और उसके सजा के बारे में बात करी। दोस्तों आज जब हम इस IPC की धारा 340 के बारे में बात करेंगे तो हम आपको ये बातएंगे के इस धारा के अंतर्गत क्या होगा ? इस धारा का क्या काम है ? क्यों जरुरत पड़ी इस धारा को बनाने की ? तो आप इस आर्टिकल को पूरा लास्ट तक पढ़ना ताकि आपको पूरी सहीं तरीके से इस धारा की जानकारी मिल सके। 

दोस्तों एक बार की घटना है कि एक X.Y.Z. नाम के व्यक्ति ने अपने बच्चे को बहुत दिनों तक बंद कर कर रखा। उसका खेलना, घूमनाफिरना बाहर निकलना सब बंद कर रख दिया। वो खुद तो बाहर आना जाना करता था मगर अपने बच्चे को बंद कर के रखता था। जब महीनो बाद इसका खुलासा हुआ तब बच्चे के पिता को जेल जाना पड़ा, क्यूंकि ऐसा करना अपराध माना गया है और इसके लिए सजा भी तय कि गयी है।

IPC 340 in Hindi

दोस्तों कई बार ऐसा भी होता है हमारे भारत देश में किसी वीराने से जगह में किसी को एक कमरे में बंद करके रखा था जबकि उस व्यक्ति कि कोई गलती तक नहीं थी। तब ऐसे कुछ केस के लिए IPC Section 340 बनाया गया ताकि अपराधी अगर कोई ऐसा अपराध करता है तब उसे इस धारा के अंतर्गत कार्यवाही करके सजा दी जा सके। तो अब जानते है IPC Section 340 के बारे में।

Most Read: IPC Section 408 in Hindi – आईपीसी धारा 408 क्या है

आईपीसी की धारा 340 क्या है (What is IPC Section 340 in Hindi)

भारतीय दंड संहिता की धारा 340 के तहत “भारतीय दंड संहिता की धारा 340 के अनुसार, जो भी कोई किसी व्यक्ति का गलत तरीके से अवरोध करता है कि उस व्यक्ति को निश्चित सीमा से परे जाने से निवारित कर दे, वह उस व्यक्ति को गलत तरीके से प्रतिबंधित करना कहलाता है। 

 1  “य” को दीवार से घिरे हुए स्थान में प्रवेश कराकर “क” उसमें ताला लगा देता है।

 2  “क” एक भवन के बाहर जाने के द्वारों पर बन्दूकधारी मनुष्यों को बैठा देता है और “य” से कह देता है कि यदि IPC 340 in Hindi भवन के बाहर जाने का प्रयत्न करेगा, तो वे “य” को गोली मार देंगे। “क” ने “य” का गलत तरीके से प्रतिबंधित किया है।

अब इसे समझते है थोड़े आसान शब्दों में

दोस्तों इस धारा के अनुसार यदि किसी ने किसी को गलत तरीके से किसी कमरे में या किसी जगह बंद करके रखा है जो की कानून  रूप से एक अपराद है तो उस व्यक्ति के खिलाफ आरोप सिद्ध हो जाने पर इस धारा के तहत केस चलाया जायेगा।  

दोस्तों ऐसा किसी को कमरे में बंद रखने का अधिकार किसी को नहीं है सिवाय पुलिस को छोड़ कर। यदि कोई अपराधी हो जिसने अपराध किया हो जिसके कारन अपने उसे बंद करके रख दिया है ताकि पुलिस को बुलाया जा सके तब इस स्थिति में आपको अपराधी नहीं माना जायेगा।  

Most Read: IPC Section 397 in Hindi – आईपीसी धारा 397 क्या है

 Example:  मानलो की कोई पति अपनी पत्नी को कमरे में बंद करके रखता है , उसे आने जाने से रोकता है। या मानलो फिर किसी ने रेप करने के बाद पीड़िता को एक अकेले कमरे में बंद करके रखा ताकि वो किसी को बता न सके तब इस तरह के केस में IPC की ये धारा की सहायता ले कर केस चला कर सजा निर्धारित की जाएगी।

नोट: रेप के केस में अपराधी के खिलाफ रेप के चार्जेज भी लगेंगे

आईपीसी 340 के तहत मिलने वाली सजा (Punishment in IPC Section 240 Hindi)

अगर कोई किसी व्यक्ति को गलत तरीके से रोकता है या रोकने का प्रयास करता है तो अपराध सिद्ध हो जाने पर मिलने वाली सजा में एक महीना या उससे ज्यादा का कारावास या तो फिर आर्थिक जुर्माना या फिर दोनों को लगा कर दोषी को सजा सुनाई जाएगी।

 Note:  दोस्तों इसमें Basically यही बताया गया है, कि यदि आप किसी को गलत तरीके से किसी वीरान जगह में या किसी कमरे में बंद करके रखते हो तब इसे अपराध की श्रेणी में देखा जायेगा और ऐसा करने वाले व्यक्ति को अपराधी घोषित करके उसे IPC की धारा 340 के तहत सजा सुनाई जाएगी।

Conclusion

आशा है की आपको आईपीसी धारा 340  क्या है? इससे सम्बंधित बहुत सी जानकारी आपको हुई होगी और साथ ही IPC की धारा 340 क्या कहती है? (What does section IPC 340 says in Hindi). इसकी जानकारी भी आपको मिल गयी होगी।

Most Read: IPC Section 303 in Hindi – आईपीसी धारा 303 क्या है सजा | जमानत

तो अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया हो तो आप अपने दोस्तों के साथ जरूर इसे शेयर करें ताकि आपके दोस्त भी हमारे भारतीय दंड संहिता के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here