IPC Section 40 in Hindi – आईपीसी धारा 40 क्या है पूरी जानकारी

आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि भारतीय दण्ड संहिता की धारा 40 क्या है (What is IPC section 40 in Hindi), आईपीसी धारा 40 में कैसे अपराध होता है, कितनी सजा सुनाई जाती है, कैसे जमानत होती है, जमानत होती है या नहीं, वकील की ज़रूरत कब लगती है, इस अपराध को करने से कैसे बचा जा सकता है। भारतीय दण्ड संहिता की धारा 40 क्या कहती है (What does IPC section 40 says in Hindi), सब कुछ विस्तार से जानेंगे।

अपराध चाहें छोटा हो या बड़ा सजा हर अपराध की सुनाई जाती है। कौनसे अपराध में कितनी सजा और जुर्माना लगाना है यह सब भारतीय दण्ड संहिता में बताएं गए प्रावधानों द्वारा तय किया जाता है। जो भी जुर्माना और सजा न्यायालय द्वारा सुनाई जाती है उसका पालन करना अनिवार्य होता है।

भारतीय दण्ड संहिता द्वारा बनाए गए नियमों का पालन नहीं करना भी एक अपराध माना जाता है। भारतीय दण्ड संहिता में अनेक प्रकार के अपराध के बारे में बताया गया है। संज्ञेय अपराध गंभीर होते है जिनमें पुलिस को तुरन्त कार्य करना होता है। असंज्ञेय अपराध ज्यादा गंभीर नहीं होते है। अजमानतीय अपराध आम तौर पर गंभीर अपराध होते है जिनमें तीन वर्ष से अधिक कारावास का प्रावधान होता है।

IPC Section 40 in Hindi

जमानतीय अपराध  कम गंभीर होते है और कारावास भी कम होता है। तो आज हम ऐसे ही एक धारा के बारे में जानेंगे और देखेंगे कि अपराध का अर्थ क्या है। यह सभी बातें हम आईपीसी धारा 40 (IPC section 40 in Hindi) में बहुत ही आसान और विस्तार से समझाने की कोशिश करेंगे तो आपको यह आर्टिकल अन्त तक पढ़ना है।

Most Read: IPC Section 91 in Hindi – आईपीसी धारा 91 क्या है

आईपीसी धारा 40 क्या है (What is IPC Section 40 in Hindi)

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 40 के अनुसार अनुच्छेद 2 और 3 में बताएं गए अध्यायों और धाराओं के अलावा अपराध शब्द इस संहिता द्वारा दण्डित की गई बात का द्योतक है।

अध्याय 4, अध्याय 5 क और निम्नलिखित धारा, अर्थात् धारा 64, 65, 66, 67, 71, 109, 110, 112, 114, 115, 116, 117, 187, 194, 195, 203, 211, 213, 214, 221, 222, 223, 224, 225, 327, 328, 329, 330, 331, 347, 348, 388, 389 और 445 में अपराध शब्द इस संहिता के अधीन या एत्स्मिनपश्चात् यथापरिभाषित विशेष या स्थानीय विधि के अधीन दण्डनीय बात का द्योतक है।

और धारा 141, 176, 177, 201, 202, 212, 216 और 441 में अपराध शब्द का अर्थ उस दशा में वही है जिसमें कि विशेष या स्थानीय विधि के अधीन दण्डनीय बात ऐसी विधि के अधीन छह मास या उससे अधिक अवधि के कारावास से, जुर्माने सहित या रहित दण्डनीय हो।

Most Read: IPC 38 in Hindi – आईपीसी की धारा 38 क्या है?

इस आर्टिकल में हमने आपको बताया कि आईपीसी धारा 40 अपराध क्या है, (IPC section 40 kya hai) कौनसी कोनसी धारा में अपराध शब्द का इस्तेमाल किया गया है और किस संदर्भ में उपयोग किया गया है, सब कुछ भारतीय दण्ड संहिता की धारा 40 (IPC section 40 in Hindi) में बहुत ही विस्तार और आसान भाषा में समझाने की कोशिश की है।

हम उम्मीद करते हैं आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और लाभकारी साबित हुआ होगा अगर आपको पसंद आया है तो अपने साथियों के साथ जरूर शेयर करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here